5.12.08

मेरे एक मुरीद के कमेंट्स

समुन्द्र पूछता है वो दोनों क्यों नहीं आते - इस कविता पर मेरे एक मुरीद की कमेंट्स आई थी - अच्छी लगी अतः अक्षरत प्रकाशित कर रहा हूँ :

मैं एक सेहरा में कश्ती चलता रहा .....
आंसूयों का समंदर बहेता रहा
दिन गुजरते गए वक्त जाता रहा
आंसूयों का समंदर बहेता रहा

दिल की धरकन में वो, मेरे तनमन में वो
चाँद को दिखा कर, चांदनी रात में
मुझ को बिछडा सनम - याद आता रहा
आंसूयों का समंदर बहेता रहा

बस इसी आस में दिन गुज़रते रहे
क्या तू मरा है, यह सोच कर दिल रुबा
दिल को अपने तस्सल्ली दिलाता रहा
आंसूयों का समंदर बहेता रहा

वो भी क्या दिन थे जब बेकारी में तुम
मुझे हर बात सच सच बताते रहे, or
आंसूयों का समंदर बहेता रहा

तू बना मेरे और मैं तेरे वास्ते
एक नगमा फिजाओं में बिखरा हुआ
तुझ को शाम-ओ-सेहर गुनगुनाता रहा
आंसूयों का समंदर बहेता रहा

जिंदगी मेरी मानिंद-ऐ-तरीक शुब,
जिस में तेरी हो यादों के चंद एक दिए
बस जलाता रहा और बुझाता रहा
आंसूयों का समंदर बहेता रहा

एक तूफान उठा, जो उड़ा ले गया
जिंदगी के वरक, बादलों की तरह
तुझ को भी ले गया, में बुलाता रहा
आंसूयों का समंदर बहेता रहा

में अपने मुक़द्दर से हूँ शिकवा ज़रूर
था किसी और से मुन्सल्क तेरा नाम
में तो बस यूही लिखता - मिटाता रहा
आंसूयों का समंदर बहेता रहा

आंसूयों का समंदर बहेता रहा
मैं एक सेहरा में कश्ती चलता रहा .....

2 टिप्‍पणियां:

  1. सूर्य संपूर्ण विश्व का जीवनदाता है। उसके अभाव में जीवन की संभावना कठिन है और उस सूर्य का ही नन्हा रूप है, दीपक-�सूर्यांश संभवो दीपः। जब सूर्य हमसे आँखें चुरा लेता है, तब यह नन्हा दीपक ही हमारी आशा के संसार को बनाये रखता है और नयी सुबह की प्रतीक्षा के लिए हमें साहस प्रदान करता है। अन्धकार कितना ही भयानक हो, दीपक अपने नन्हे प्रकाश से उसे चीरने का निरन्तर और अनथक प्रयास करता रहता है। दीपक, हमारे लिए प्रकाश का संबल ही नहीं, निरन्तर और साहसपूर्ण संघर्ष का प्रतीक भी है। वह अपने स्वयं का अस्तित्व, तिलतिल जलाकर भी हमें निरन्तर प्रकाश देता है। त्याग, बलिदान और परोपकार का वह अनन्य उदाहरण है।
    दीपक दुष्टात्माओं का काल और शुद्धात्माओं का संबल माना जाता है। भीतर बाहर की शुद्धि के लिए अक्सर दीपक की बात कही जाती है।

    उत्तर देंहटाएं
  2. are baba ko itna mata chadao itna ... ki suraj ko suraj na samjhe...

    उत्तर देंहटाएं

बक बक को समय देने के लिए आभार.
मार्गदर्शन और उत्साह बनाने के लिए टिप्पणी बॉक्स हाज़िर है.